Education विद्या…

*Education *

विद्या एक ऐसा गहना है
जो केवल ख़ूबसूरती ही नहीं बढ़ाता है।

बल्कि ख़ूबसूरती के साथ-
साथ व्यक्तित्व में भी चार चाँद लगाता है।

सहयोग एक बहुत ही …

सहयोग एक बहुत ही
महंगी चीज़ है
इसकी हर किसी से
उम्मीद न रखे
क्योकि
बहुत ही कम लोग दिल
के धनवान होते है

परमपुरुष

वह पुरुष…जो बार-बार आकर
तुम्हारे मन की वीणा को
झंकृत कर जाता है
तुम्हारी कल्पनाओं के
आकाश में मदमस्त
मादक बादल -सा मंडराता है
कभी…स्वप्न में आकर
अपने पवित्र प्रेम के निर्झर में
तुम्हें स्नान कराता है
और कभी अचानक…
तुम्हारी कलाई पकड़कर
तुम्हारे अंग-संग होने का
अहसास कराता है
लेकिन….तुम्हें भय है ज़माने का ,
कि कहीं गलत न समझ ले तुम्हें  
तुममें..मीरा-सी दीवानगी नहीं
राधा-सा साहस नहीं
जमाने के तानों का विष
केवल मीरा ही पी सकती है
प्रेम में..सब कुछ गँवाने का साहस 
राधा ही कर सकती है
मीरा ही..प्रेम के नशे में झूमकर
गा सकती है ,नाच सकती है
राधा की तड़प में ही
वह साहस है…जो कह सके
कि वह कोई परपुरुष नहीं
   केवल वही पुरुष है
     “परमपुरुष” है

परमपुरुष

वह पुरुष…जो बार-बार आकर
तुम्हारे मन की वीणा को
झंकृत कर जाता है
तुम्हारी कल्पनाओं के
आकाश में मदमस्त
मादक बादल -सा मंडराता है
कभी…स्वप्न में आकर
अपने पवित्र प्रेम के निर्झर में
तुम्हें स्नान कराता है
और कभी अचानक…
तुम्हारी कलाई पकड़कर
तुम्हारे अंग-संग होने का
अहसास कराता है
लेकिन….तुम्हें भय है ज़माने का ,
कि कहीं गलत न समझ ले तुम्हें  
तुममें..मीरा-सी दीवानगी नहीं
राधा-सा साहस नहीं
जमाने के तानों का विष
केवल मीरा ही पी सकती है
प्रेम में..सब कुछ गँवाने का साहस 
राधा ही कर सकती है
मीरा ही..प्रेम के नशे में झूमकर
गा सकती है ,नाच सकती है
राधा की तड़प में ही
वह साहस है…जो कह सके
कि वह कोई परपुरुष नहीं
   केवल वही पुरुष है
     “परमपुरुष” है

Raj Singhania

काम पड़े तो ritha yaad आता है
बरना इस मतलबी दुनिया
कौन किस ke काम आता है। ?e

Jata di tumne…✍️✍️

khawabo ke Arman jaga tha
or bujha di tumne …

Kya khata huyi humse
jo rula di tumne

piroye the mala ujalo ke
or qn bujha di tumne

Huyi galti tho bata dete hume
qn iss trah jata di tumne….?

?????? ???????

ये मत सोच की तेरे काबिल नही हम,
तरस रहे है वो लोग,जिन्हें हासिल नही हम..!

मन में बसे हो तुम …

मन में बसे हो तुम

जब से मिली तुमसे ये नज़रें
फिर हमने आँख उठायी नहीं!

भगवान की क़सम भले खा लें
पर तुम्हारी क़सम खायी नहीं!!