maa

bchpan me jin akhon se draya krtii thi..

ajj unhi ankhon se samjhatii haiiii…

kbhiii betii wo b thi kisiki ajj beti ko samjhati hai..

door bhjne se aksar ghbra jatii thiii…

aur judda abbhi na hona chahti haii…

maa ke pairon me jannat dekhne wale b 

wo khuda k bnde hai preet…

nahii…ajj ki duniya me ye rabb ki surat..

enhe bojh nazar ati hai

सेतु कविता

हे रे कोरोना कब जाओगे तुम कहो ना
जगत को सारा बंधक बनाके मुश्किल मे है डाला ……
जनम लिया है तूने वुहान शहर मे
वायरस रुप बनाया
पता न लगे के तेरा जनम हुआ है
चीन ने सबसे छिपाया
इसपेन इगलेड अमरीका मे
कितना कहर है ढाया…..
स्टे होम लाकडाउन सोसल डिस्टेन्स का
मंत्र बताया मोदी ने
घर से निकलो किसी से न मिलना
यंत्र बताया मोदी ने
सेनेटाइजर से हाथ है मलना
साबुन से हाथ धोना ……
लाश का अंबार लगता प्रतिदिन
मौत न रोके से रुके
बंद हुए कलकारखाना भी
अर्थव्यवस्था भी टूटे
सबके सहयोग से हारे कोरोना
साथी हाथ बढ़ाना ….
कोरोना कब जाओगे कहो ना

सेतु चौपाई

!! चौपाल !!

लइका सियान जेन मेर सकलाथें
खेती-किसानी के गोठ- गोठियाथें
अउ जानना हे देश-बिदेश के बात
दिल्ली होवय चाहे के भोपाल के
गोठ सुन हमर गांव के चौपाल के. .

नीति धरम के के ताक होथे
ताक अउ हाँसी-मजाक होथे
अउ सियानी के गोठ घलो सुन
माधो, रमेसर अउ गोपाल के
गोठ सुन हमर गांव के चौपाल के. .

बिहनिया नहा-धोके जम्मो ऑथें
रथिया भात खाके इ करा ठुलाथें
अब्बड़ सुहावना लागथे संगवारी
कइसे करव बखान सुघ्घर महौल के
गोठ सुन हमर गांव के चौपाल के. .

गनेश चउथ म लम्बोदर बिराजथन
नवराति म दुर्गा दाई नेवत के लाथन
चँउक ल सजाथन छाँवनी बनाके
फ़बित का कइबे चाँदनी,तिरपाल के
गोठ सुन हमर गांव के चौपाल के. .

 सेतराम साहू "सेतु"

intzar

Kitabo mai rakhe phool sukh Kar pile ho gaye . . .
Kuye aur talab bhi kangan ki Awaaz ke mohtaz ho gaye . . .
Akele reh gaye phool bechare bago mai daliyo par . . .
Jab se mere gaon ki titliyo ke hath pile ho gaye . . . .

बेगाने

जिस के लिए छोड़ दिया था अपनाे काे कभी, आज वही बेगाने हाे गए हैं,
मैने ताे एक दर्द सा लिखा था शायरी में, और ये लाेग मेरे दीवाने हाे गए हैं।

Friends Status

?#बादशाह# ? वो नही होता
जो # ?सिंहासन पर
बैठकर #राज करता है

बादशाह? तो वो होता है ?

जो # दोस्त ? की हर # धडकन
# पर ? राज करता है ??

Maynk S