kamine dosto के लिए

ए मेरे दोस्त दोस्ती और शराब जितनी पुरानी हो उतनी ही सही है
ए मेरे दोस्त दोस्ती और शराब जितनी पुरानी हो उतनी ही सही है
क्योंकि जितने ज्यादा दिन पुरानी शराब और दोस्ती उतने ही ज्यादा रिश्तो की कीमत …..

दोस्ती चेहरे की मीठी…

दोस्ती चेहरे की मीठी मुस्कान होती है,
दोस्ती सुख दुःख की पहचान होती है,
रूठ भी जाये हम तो दिल से मत लगाना,
क्योंकि दोस्ती थोड़ी सी नादान होती है।

महफिल यारो की

जिंदगी के बाजार में दवे हम बैठे है निकलने का मन तो है
पर निकले भी तो कैसे यह तो अपने है दवाये बैठे है

हर प्यार।

हर प्यार बेवफ़ा नहीं देता कुछ बावफा भी देते हैं।
हर प्यार इज़हार से नहीं होता कुछ इंकार कर भी होते हैं ।

dosti

ब्याह मैं बाह्मण से
म्हिन्या मैं फागण से।

नींद पाछै अंगड़ाई से
बटेऊआं तई असणाई से।

रसोई मैं कासण से
गर्मियां मैं माट्टी आले बासण से।

लामणी में लाग्गया बाढ्ढा से
खांसी जुखाम में गाड्ढा से।

सामण मैं मीह् से
चुरमें मैं घी से।

गाम्मा मैं झोह्ड़ से
जाड्डया मैं सोड़ से।

खेता मैं गोहरी से
डांगरा तई खल की बोरी से।

बैठक मैं हुक्का से 
सुथरी बहु का गांम मैं रुक्का से।

बीमारी मैं परहेज से
छोरे आला तई दहेज से।

खेता मैं गोहरी से 
डांगरा तई खल की बोरी से।

बनड़ी तई बारौठी से
चिड़ी तई घड़ौठी से।

किसान तई दरांती से
दादी के बड़भाती से।

डुन्डा मैं बगड़ से
मैले लत्तया पै रगड़ से।

नौम्मी नै खीर से
रांड्या तई बीर से।

गंडासे पै लागता रेत से
हरियाणे मैं लहराते खेत से।

वाणे पै बिराण माटी से
गैर टेम फसल की रेह रेह माटी से।

धंधे मैं जरूरी सांठगांठ से
फौजी तई छुट्टी की बाट से।

सोण तई खाट से
बिरादरियां मैं जाट से।

मामा तई भात से
अर म्हारे नेता हर तई इलेक्शन मैं जात पात से।

पुराणी हेलिया मैं खुटी आला से
अर राजनीति मैं दुष्यंत चौटाला से।

साहित्य मैं चंद्रबिंदु से
अर भाई साध आली खेड़ी मैं सिंधु से।