धरती बचाए

सूनी है सड़के हैं सुनसान रहे,
नहीं है कोई भी जो शोर मचाए।
इंसान है जो वो घरो मै चुपा है,
प्राकृतिक दंड अब उनको मिला है।

है पक्षी का जीवन खुशहाल सारा,
शुद्ध हो गया है ये आकाश तुम्हारा ।
पशु भी हुए अब तो खुश इस जीवन से,
नहीं आरहा कोई जंगल का विध्वंश करने।।

हंसता है चंदा और हंसता है मंगल,
जो रचते थे रहने के सपने वहां पर।
वो मुंह को छुपाए अंधेरे में बैठा,
अपने जीवन के वो पुण्य को गिनता।

है बादल भी अब तो खूब बरसता ,
सूरज भी अब खूब है तपता।
सभी चाहते बस इंसान सुधरे,
किसी भी तरह धरती की अहमियत को समझें।

खुद भी रहे और सबको बचाए,
शुद्ध आकाश को ना काला बनाए।
ना जंगल को काटे ना नदियों को कूड़ा बनाए,
खुद भी बचे और धरती बचाए।।

                     @shutosh....

Muskurahate hamari toh hunar ki baat hain

मुस्कुराहटें हमारी तो हुनर की बात हैं।
दर्द तो रहेगा ही ये तमाम उमर की बात हैं।

Muskurahate hamari toh hunar ki baat hain.
Dard toh rahega hi ye tamaam umar ki baat hain.

Dushmano ki basti se bekhauff gujra main

दुश्मनों की बस्ती से बेख़ौफ़ गुजरा मैं।
अब ख़ौफ़ हैं, कुछ दोस्तों का घर रास्ते में हैं।

Dushmanon ki basti se bekhauff gujra main.
Ab khauff hain, Kuchh doston ka ghar raste me hain.

Khuda pe shaq hain mujhe gamgin kismat lekar

ख़ुदा पे शक़ हैं मुझे ग़मगीन किस्मत लेकर।
मेरे हिस्से दर्द लिखने बैठा हैं वो रिश्वत लेकर।

khuda pe shaq hain mujhe gamgin kismat lekar.
Mere hisse dard likhne baitha hain woh rishwat lekar.

सब मोहमाया

ये दुनिया मोहमाया वाली है और हमलोग कभी इसे समझ नही सकते समझ भी गए तो आगे एक फिर दूसरा कार्य आपका इंतजार करेगा

7479906139

अब इस दिल मे कुछ नया आने वाला है,
जो बीत गया है उसको भूलकर हमे आगे की ओर जाना है।

KASH PAR HOTE MERE!

Kash! par hote mere
to udd jati beniyaz.
Muzoom se dur
is nurani aasman me.
Fitrat na karti me
ki lot aau fir is jahan me.
Kash! par hote mere
to udd jati beniyaz.
Vo sagar ki nagme gati lahre.
Vo mehram mahakte bagh.
Chukar aasman ghumati, jhumati,
gungunati, chahakti muddato baad.
Kash! par hote mere
to udd jati beniyaz.
Ulfat ke sitaro se milti
mere aziz yaro se milti.
Meri simati duniya me
hoti gulzar khushiya fir ek bar.
Kash par hote mere!
Preeti Patel

Growing

Know, in life you wanted to be at a position which is stable,
Realize, time when you become stable, doesn’t make your growth unable?

आईना

उम्र भर गालिब यही भूल करता रहा…
धूल चेहरे पर थी ओर आईंना साफ करता रहा..