7479906139

अब इस दिल मे कुछ नया आने वाला है,
जो बीत गया है उसको भूलकर हमे आगे की ओर जाना है।

ਅੱਜ ਰੁਸ ਲੈ ਜਿੰਨਾ ਤੂੰ…

ਅੱਜ ਰੁਸ ਲੈ ਜਿੰਨਾ ਤੂੰ ਰੁਸ ਸਕਦੀ

ਮੈਂ ਤਿਆਰ ਹਾਂ ਤੈਨੂੰ ਮਨਾਉਂਣ ਵਾਸਤੇ

ਜਿਸ ਦਿਨ ਮੈਂ ਰੁਸ ਗਯਾ ਤਾਂ

ਉਸ ਦਿਨ ਤੂੰ ਰੁਲ ਜਾਏਂਗੀ

ਮੇਰੀ ਲਾਸ਼ ਨੂੰ ਹਸਾਉਣ ਵਾਸਤੇ!

suvichar

निर्माण सदैव बलिदानों पर टिकता है।और जब तक निर्माण के लिए बलिदान की खाद नहीं दी जाती तब तक विकास अंकुरित नहीं होता….

Real life

“हर तरफ पढ़ाई का साया है;
किताबों में सुख किसने पाया है;
लड़के तो जाते हैं, ट्यूशन लड़कियां देखने;
और सर कहते हैं, देखो बरसात में भी लड़का पढ़ने आया है!”

Ibadat

खुदा को याद करूँ…या करूँ
इवादत तुम्हारी

ज़र्रे ज़र्रे में वो है …
और कतरे कतरे में तुम