पहले 20 रुपये की लैद…

पहले 20 रुपये की
लैदर बाॅल के लिए
11 दोस्त पैसे इकट्ठे
करते थे,

आज बाॅल तो अकेला
ला सकता है मगर
11 दोस्त इकट्ठे नहीं
होते??☹?

चील की ऊंची उड़ान दे…

चील की ऊंची उड़ान देखकर
चिड़िया कभी डिप्रेशन में नहीं आती,
वो अपने अस्तित्व में मस्त रहती है,
‌‌ मगर इंसान,
इंसान की ऊंची उड़ान देखकर
बहुत जल्दी चिंता में आ जाते हैं।

ना किसी से ईर्ष्या, ना किसी से होड़!
मेरी अपनी मंजिलें, मेरी अपनी दौड़।
तुलना से बचें, और खुश रहें।

मत कर तमन्ना किसी को…

मत कर तमन्ना किसी को पाने की,
बड़ी बेदर्द?निगाहें हैं इस जमाने की।

तूं खुद को बना काबिल इस कदर
कि तमन्ना रखें लोग तुझे पाने की।