दिल मज़बूत हो तो, …

*दिल* मज़बूत हो तो,
*दुख* सहन करता है।

*कंधे* मज़बूत हो तो,
*भार* सहन करते हैं।

*इरादे* मज़बूत हो तो,
*ख़्वाबों को सच करते हैं*

भीड़ जब बेक़ाबू हो ज…

भीड़ जब बेक़ाबू हो जाती है,
वह अंधी ही नहीं बहरी भी हो जाती है।

बंद कर अपने आँख कान सही ग़लत में,
फ़र्क़ करना भी भूल जाती है।

aaj din bhi to 13 h

क्यू बार बार तू मेरा तेरा करता है
हर बात पे बस यूं ही झगड़ता है
कभी कभी तो पल हमें बात करने का मिलता है
उस पल में भी तू मुझसे सिर्फ सवाल ही करता है
मै तो पूरी तेरी ही हूं मेरा अपना कहा कुछ होता है
इस बात का सबूत यही है कि दिन भी तो आज 13 है
©rbwriter08