इस तरह न कमाओ कि पाप…

इस तरह न कमाओ कि पाप हो जाए!
इस तरह न खर्च करो कि कर्ज हो जाए!
इस तरह न खाओ कि मर्ज हो जाए!
इस तरह न बोलो कि क्लेश हो जाए!
इस तरह न चलो कि देर हो जाए
इस तरह न सोचो कि चिन्ता हो जाए!

कोई भी हमारे करमों क…

कोई भी हमारे करमों की जिम्मेवारी नहीं ले सकता,

हमें अपने किये हुए करमों का फल खुद ही भोगना

पड़ता है तो क्यों न हम अपने करमों का फल दु:खी

   होने की बजाए मुस्कुराते हुए चुकता करें

परमात्मा से कुछ मा…

” परमात्मा से कुछ मांगो मत
सिर्फ उन्हें याद करो”
जब आपको गर्मी होती है
तो आप पंखे से हवा नहीं मांगते
आप उसके सामने बैठ जाते हैं
और हवा अपने आप मिल जाती है!
उसी प्रकार परमात्मा के सामने बैठ
उसे हम दिल से याद करें तो परमात्मा
की सारी शक्तियां स्वत:मिल जायेंगी!
आपको मांगने की जरूरत नहीं पड़ेगी!

बुल्ले शाह जी कहते …

बुल्ले शाह जी कहते हैं
उस दे नाल यारी कदी ना रखियो,
जिस नू अपने ते गुरूर होवे..!!
माँ बाप नू बुरा ना अखियो,
चाहे लाख उन्हां दा क़ुसूर होवे..!!
राह चलदे नू दिल न दैयो,
चाहे लख चेहरे ते नूर होवे..!!
ओ बुल्लेया दोस्ती सिर्फ उथे करियो,
जिथे दोस्ती निभावन दा दस्तूर होवे..!!