अजीब खेल है उस खुदा …

अजीब खेल है उस खुदा का
लिखता भी वही है
मिटाता भी वही है
भटकाता है राह तो
दिखाता भी वही है
उलझाता भी वही है
सुलझाता भी वही है
जिंदगी की मुश्किल घड़ी में
दिखता भी नहीं मगर
साथ देता भी वही है

घर का मुखिया बनना आस…

घर का मुखिया बनना आसान नहीं…
उसकी हालत
टीन के उस शैड जैसी होती है
जो बारिश, तूफान,
ओलावृष्टि सब झेलता है
लेकिन उसके नीचे रहने वाले
अक्सर कहते हैं कि
यह आवाज़ बहुत करता है और
गरम भी जल्दी होता है।