कभी ख़ुशी कभी ग़म …

कभी ख़ुशी कभी ग़म

        कभी सम कभी विषम 

कभी प्यार कभी नाक में दम

        बस ऐसे ही मेरे हमदम?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *