‘ तुम नहीं ‘…

नजरों में तो हो तुम पर
दुर हो तुम मेरे पास नहीं ,
यु तो उस दिल में पहले जैसी बात नहीं
आज कल तुम नहीं तो ये पल खांस नहीं ।।

              आज कल जिन्दगी य मेरा उजड़ा उजड़ा है 
              जो ईस दिलको समझें तेरी तरा वो बात हर किसी 
              में नहीं,
              तुम मेरे सपनों में तो हो पर
              मेरे ईस दिल की हकीकत में नहीं। ।

तुम मेरे धड़कन में तो हो
मगर मेरे दिल की दर्द में नहीं,
तुम मेरे सांसों में तो हो
पर मेरे जिन्दगी की हर कदम में नहीं। ।

                             ?innocent lover ?
                                          ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *