ख्वाब

ख्वाब तेरे भी होंगे ऐसे
कुछ-कुछ मेरे हैं जैसे
लिखा क्या है किस्मत में
दुनिया को क्या पड़ी है इससे?

CategoriesUncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *