चाह ना रखो.. ✍

किसी के होठों की हंसी बन जाओ, पर
दर्द का कारण ना बनो, दुआ सब के लिये
करो, पर बदुआ की चाह ना रखो.. .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *