मंजिल अपनी और खिंचती…

मंजिल अपनी और खिंचती
है, जब दिल में चाह हो
बिना रूके बस मंजिल को
पाने का जुनून हो..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *