क्रोध से , विषाध से …

क्रोध से , विषाध से दया से पुर्व रीति से ही ,
किसी भी बहाने से याद किया कीजिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *