ज़िंदगी बड़ी होनी चा…

ज़िंदगी बड़ी होनी चाहिए

लम्बी नहीं बाबू मोशाय

जब तक ज़िदा हूॅं, मरा नहीं,

जब मर गय़ा तो साला मैं ही नहीं,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *