ना मुस्कुराने को जी …

ना मुस्कुराने को जी चाहता है
ना आंसू बहाने को जी चाहता है,,
लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में
बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है,
??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *