लिख चुके हैं तेरे लि…

लिख चुके हैं तेरे लिए,एहसास बहुत सारे,

फिर भी जितना तुझे चाहा,कभी लिख नहीं पाये ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *