कभी यूं साथ बैठो… …

कभी यूं साथ बैठो…
तो अपना दर्द कहेंगे…
यूं दूर से पूछोगे तो…
खरियत ही कहेंगे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *