लोग काग़ज़ पर चरित्र…

लोग काग़ज़ पर चरित्र..
..प्रमाण पत्र बनवाते हैं,

चरित्र हाथ से लिखा नहीं जाता
यह पवित्र दिल और मन की उपज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *