दर्द की दास्ताँ इतनी…

दर्द की दास्ताँ इतनी बड़ी थी उनसे सुनी ना गयी
ख़ैर बेवजह की बातें हमसे भी कही ना गई??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *