दो घड़ी जीने की मोहब…

दो घड़ी जीने की मोहब्बत तो मिली है सबको

तुम भी मिल जाओ घड़ी भर तो ये ग़म होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *