जब ठोकर… लगती…

जब ठोकर…

लगती है तो मुँह से हाय माँ ही निकलती है,

माँ हमेशा बच्चों का साया बन साथ चलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *