बस तुम चुप रहना, तुम कुछ ना कहना

खोकली है दुनिया,खोकले इनके विचार है
बेटियों को कम समजे यही तो बड़ी हार है

खुले आम छेड़खानी होती है
बिच बाजार में इज्जत उछालते
फिर भी Target तो बेटियों कोहि बनाते
कैसे कपड़े पहनती हैं, क्या चाल‌‌डाल है
वल्लाह
वल्लाह क्या लड़की है

वाह.. वाह वल्लाह_वल्लाह
क्या वसुल है दुनिया का
वो मेरे मौल्ला हर बार कसुर वार
लड़कियों को क्यों बनाता

फिर भी तुम चुप रहना
तुम कुछ ना कहना
सलाह भी हमिको देते
बेटियों को घरों के पिंजरो में
बैठा कर,बेटे आधी रात को
दंगे_फसात करते

फिर भी बस तुम चुप रहना
तुम कुछ ना कहना
क्योंकि वो बेटा जो ठहरा

मुंह का तो shut down
करके_ करना जो करलो तुम
फिर भी सलाह है लड़की को
पिंजरे में हि रहना तुम

बस…..अब ज्वाला जो भड़की दिल में
कब तक क्यों चुप रहे हम
फिर दो थप्पड़ लगाकर चुप कर दिया मुंह

सलाह है…..बस तुम चुप रहना
तुम कुछ ना कहना
बस तुम चुप रहना
तुम कुछ ना कहना….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *