Hashim Salmani

इतना मीठा था वो ग़ुस्से भरा लहजा मत पूछ

उस ने जिस को भी जाने का कहा बैठ गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *