बड़ी बारीक़ी से पढ़ …

बड़ी बारीक़ी से पढ़ लेते है वो ख़ामोशी मेरी,
बार बार यू मुझे अपना बनाना उन्हें बख़ूबी आता है।।?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *