कोई भी व्यक्ति हमारा…

कोई भी व्यक्ति हमारा
मित्र या शत्रु बनकर
संसार में नहीं आता।
हमारा व्यवहार और
शब्द ही लोगों को
मित्र और शत्रु बनाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *