अदब की राह मिली है…

अदब की “राह” मिली है तो,
“देखभाल” के चलो …
मिली है “जि़न्दगी” तुम्हे,
बस इसी “मकसद” से
सँभालो “खुद” को और
“अपनों” के सँभाल के चलो….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *