यूॅं तो पत्थर कि भी …

यूॅं तो
पत्थर कि भी
तक़दीर
बदल सकती है,
शर्त ये
है कि उसे
दिल से तराशा
जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *