बात करूँ तो बहस चुप …

बात करूँ तो बहस
चुप रहूँ तो ग़रूर…..
कुछ ऐसी चाल रही
है ये ज़िन्दगी आजकल… !!

A

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *