उल्फ़त, मोहब्बत, अश्क…

उल्फ़त, मोहब्बत, अश्क, वफ़ा, अफ़साने, और भी जाने क्या-क्या सिखा गयी…

पता नहीं प्यार करने आई थी या जिंदगी में सिर्फ ऊर्दू सिखाने आई थी।..

A

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *