काश….. नासमझी में …

काश…..
नासमझी में ही
बीत जाए…!!
ये ज़िन्दगी…

 समझदारी ने तो
 बहुत कुछ छीन
     लिया..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *