एक रूह है जिसे पनाह …

एक रूह है जिसे पनाह चाहिए,
एक मिजाज है जिसे आवारगी की तलब।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *