जब-जब हुआ है खिलवाड़…

जब-जब हुआ है खिलवाड़
तब-तब…
काल बनी है प्रकृति हो या स्त्री…

       -सहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *