मन्दिर और मसजिद के न…

मन्दिर और मसजिद के नाम पर बहस करने से आप भगवान को नहीं समझ सकते । उनको जानने के लिए पवित्र दिल की जरुरत होती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *