अपनी चालाकी पर इतना …

अपनी चालाकी पर इतना गुमान ना कर ए नासमझ,
हम तेरे झूठ को इसलिए सच मान लेते हैं क्योंकि हमें अच्छा लगता है।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *