जब कोई हमारा अपमान क…

जब कोई हमारा अपमान करता है,
धोखा देता है, तो मन कहता है..

” हम उसको क्यों क्षमा करें?”

बात पकड़ कर रखना, उसको
बार बार दोहराना,

दर्द हमें देता है…उन्हें नहीं!

हमें क्षमा उनके लिये नहीं,
अपने सुख के लिये करना है।

उनका व्यवहार चित पर रखने से,
औरों को सुनने से,

हमारे संस्कार और हमारी सेहत,
दोनों पर असर पढता है।

Forgive for a Healthy and
Happy Life.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *