तभी तक पूछे जाओगे, …

तभी तक पूछे जाओगे, जब तक काम आओगे…

चिरागों के जलते ही… बुझा दी जाती हैं “तीलियाँ”…!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *