दुनियां के चार स्थान…

दुनियां के चार स्थान
कभी नहीं भरते;
समुद्र;
शमशान;
तृष्णा का गड्ढा,
और मनुष्य का मन…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *