कभी पीठ पीछे आपकी ब…

कभी पीठ पीछे आपकी
बात चले तो घबराना मत।

क्योंकि बात तो उन्हीं की
होती है,
जिनमें कोई बात होती है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *