जरुरी नहीं कुछ तोड़ने…

जरुरी नहीं कुछ तोड़ने के लिए पत्थर ही मारा जाए….
लहज़ा बदल कर बोलने से भी बहुत कुछ टूट जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *