यूँ ना खींच मुझे अपन…

यूँ ना खींच मुझे अपनी तरफ बेबस कर के,
ऐसा ना हो के खुद से भी बिछड़ जाऊं
और तू भी ना मिले…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *