जफ़ा जो इश्क में होत…

जफ़ा जो इश्क में होती है वो जफ़ा ही नहीं ,
सितम न हो तो महोब्बत में कुछ मज़ा ही नहीं !

(जफ़ा=अत्याचार)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *