कसूर मेरा था तो कसूर…

कसूर मेरा था तो कसूर उनका भी था
नज़र हमने जो उठाई, तो झुका वो भी सकते थे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *