जब इंसान अपनी गलतिय…

जब इंसान अपनी गलतियों का वकील और,

दूसरों की गलतियों का जज बन जाये,

तो फैसले नहीं फासले होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *