सब को इकट्ठा रखने…

सब को इकट्ठा
रखने की ताकत
प्रेम में है
और
सब को अलग
करने की ताकत
    वहम में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *