करवा देता है हदों का…

करवा देता है हदों का अहसास
सही समय पर यह वक्त

जो तालाब खुद को समंदर समझते हैं भूल से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *