मुझे तैरने दे या …

मुझे तैरने दे या
फिर बहना सिखा दे,
अपनी रजा में
अब तू रहना सिखा दे,
मुझे शिकवा ना हो
कभी भी किसी से,
ऐ कुदरत…
मुझे सुख और दुख के पार
जीना सिखा दे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *