वक़्त मिले… तो मेरे…

वक़्त मिले… तो मेरे घर तक चले आना कभी….

तेरी खुश्बू के मोहताज़…. मेरे गुलदस्ते आज भी हैं..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *