वहाँ तक तो साथ चलो, …

वहाँ तक तो साथ चलो,
जहाँ तक साथ मुमकिन है,
जहाँ हालात बदल जाएँ,
वहाँ तुम भी बदल जाना!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *